our services

Bfib0ATFiXu-34

कुछ लेख

यहा हम राधा राणी के संबंधित कुछ लेख या कुछ सामग्री हमे उपलब्ध हुई है , उसे संग्रहित किया है .

20171107_090346_EZRepost

कुछ कविताये

यह भाग राधा राणी के उपर लिखि हुई कविताओंका संग्रह है .

20171107_090330_EZRepost

कुछ पुस्तक और डाउनलोड लिंक्स

आप यह पर कुछ पुरातन ग्रंथ , राधा राणी के कुछ चित्र , विडीओस को डाउनलोड कर सकते है.

कौन है श्री राधा रानी ?

अनया आराधितो नूनं भगवान् हरिरीश्वरः यन्नो विहाय गोविन्दः प्रीतोयामनयद्रहः।

 

प्रश्न उठता है कि तीनों लोकों का तारक कृष्ण को शरण देनें की सामर्थ्य रखने वाला ये हृदय उसी अराधिका का है, जो पहले राधिका बनी। उसके बाद कृष्ण की आराध्या हो गई। राधा को परिभाषित करनें का सामर्थ्य तो ब्रह्म में भी नहीं। कृष्ण राधा से पूछते हैं- हे राधे ! भागवत में तेरी क्या भूमिका होगी ? राधा कहती है- मुझे कोई भूमिका नहीं चाहिए कान्हा ! मैं तो तुम्हारी छाया बनकर रहूँगी। कृष्ण के प्रत्येक सृजन की पृष्ठभूमि यही छाया है, चाहे वह कृष्ण की बांसुरी का राग हो या गोवर्द्धन को उठाने वाली तर्जनी या लोकहित के लिए मथुरा से द्वारिका तक की यात्रा की आत्मशक्ति।